Wednesday, August 17

दिल्ली में 49 जगह लगा बोर्ड, अब ड्राइविंग के दौरान हाई दिल्ली पुलिस करेगी अलर्ट, जाम से लेकर बारिश तक होगा फ़्लैश

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस वाहन चालकों को बड़ी राहत देने जा रही है। अब बीच रास्ते लोगों को सड़क के अगले हिस्से के ट्रैफिक मूवमेंट की सटीक जानकारी मिलेगी। जाम होने की सूरत में वह अपना रास्ता बदल सकेंगे। सड़कों पर लगाए गए स्क्रीन सरीखे वैरिएबल मैसेज साइन बोर्ड लोगों को बता देंगे कि आगे की आवाजाही धीमी है या सड़क जाम है।
यही नहीं, मौसम विभाग के बारिश के पूर्वानुमान के हिसाब से लोगों को यात्रा की योजना बनाने की सलाह भी दी जाएगी। यातायात पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ट्रैफिक इंटेलिजेंट मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) के तहत वर्ष 2015-16 में दिल्ली में विभिन्न मार्गोंं पर वैरिएबल मैसेज साइनबोर्ड लगाए गए थे।

रिंग रोड पर धौलाकुंआ फ्लाईओवर के पास, मायापुरी फ्लाईओवर के पास, जन्माष्टमी पार्क-पंजाबी बाग, मथुरा रोड पर डीपीएस स्कूल के पास, अपोलो अस्पताल के पास, आइजीआई स्टेडियम, रिंग रोड पर साउथ एक्स, भाग-एक व सरदार पटेल मार्ग पर ताज होटल के पास समेत 49 जगहों पर साइन बोर्ड लगे हैं। इन पर अभी तक ट्रैफिक नियमों का पालन करने से जुड़े मैसेज प्रदर्शित होते हैं।

 

पुलिस अधिकारी ने बताया कि अब इन पर ट्रैफिक से जुड़ी जरूरी सूचनाएं दी जाएंगी। मसलन, अगर सड़क का आगे का हिस्सा जाम है या फिर जलभराव है, तो साइन बोर्ड पर इसकी सूचना फ्लैश होती रहेगी। वहीं, मंजिल की तरफ जाने वाले वैकल्पिक रास्तों की भी जानकारी मिलेगी। इससे कोई दूसरा रास्ता न होने से ही लोग आगे बढ़ेंगे। बाकी वैकल्पिक मार्गों का सहारा ले सकेंगे। इसका नतीजा यह भी होगा कि जाम के प्वाइंट पर वाहनों का दबाव कम हो जाएगा और जाम जल्दी खत्म किया जा सकेगा। वाहनों की लंबी कतार न लगने से ईंधन की खपत कम होगी और प्रदूषण में भी कमी आएगी।

साइनबोर्ड पर मैसेज फ्लैश करवाएगा टीआई :

गूगल मैप से रीयल टाइम आधार पर यातायात पर नजर रखी जा रही है। इसके लिए टोडापुर स्थित ट्रैफिक पुलिस के हेडक्वार्टर में चार बड़ी स्क्रीन लगाई गई हैं। अभी जिस इलाके में जाम लगता है, वहां के ट्रैफिक सर्किल इंस्पेक्टर (टीआई) को खुद ही मैसेज चला जाता है। इसी संदेश को टीआई साइनबोर्ड पर चलवा देगा। इसमें वैकल्पिक मार्गों की भी जानकारी दी जाएगी।

बरसात की भी मिलेगी सूचना

ट्रैफिक पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने भारतीय मौसम विभाग से संपर्क किया है। आपसी तालमेल से ट्रैफिक पुलिस को विभाग से मौसम का पूर्वानुमान मिल जाएगा। मानसून के दौरान मौसम विभाग के हर दो घंटे में होने वाले पूर्वानुमान को बोर्ड पर डिस्प्ले किया जाएगा। तेज बारिश होने से किन-किन मार्गों पर जलभराव होने के आसार हैं, ऐसे में साइनबोर्ड पर बता दिया जाएगा कि उन मार्गों पर न जाएं। यह भी बताया जाएगा कि तेज बारिश होने वाली है, इसलिए लोग घरों से न निकलें।

 

सोशल मीडिया पर मिलेगी अब ज्यादा जानकारी

ट्रैफिक पुलिस ने पब्लिक इंटरफेस यूनिट (पीआईयू) का गठन किया है। इस यूनिट के जरिए ट्रैफिक पुलिस अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्मों से लोगों को ट्रैफिक जाम व अन्य बाधाओं के बारे में बताएगी। ट्रैफिक पुलिस की हेल्पलाइन पर लोगों को ज्यादा से ज्यादा जानकारी दी जाएगी।

 

इस तरह होगा डिस्प्ले

  • आगे जाम लगा है, इस रास्ते पर जाने से बचें। दूसरे मार्ग का इस्तेमाल कर सकते हैं
  • जलभराव के कारण वाहनों का दबाव है, इसलिए वैकल्पिक मार्ग से निकलें
  • वाहन खराब होने से ट्रैफिक धीमा है। दूसरे रास्ते का प्रयोग करें
  • बारिश होने वाली है। इसको देखकर यात्रा की योजना बनाएं
  • आगे तीव्र मोड़ है, बचकर निकलें

Leave a Reply