Monday, August 8

सस्ते सैनिटाइजर से भी हो सकता हैं ब्लैक फंगस, आंखों को पहुंचा रहा मेथेनॉल और स्टेरॉयड नुकसान

सस्ते सैनिटाइजर भी हैं ब्लैक फंगस के लिए जिम्मेदार

अगर आप भी कोरोना संक्रमण से बचने के लिए कोई सस्ता हैंड सैनिटाइजर उपयोग कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए। बाजार में मिलने वाले स्टेरॉयड के अलावा यह सस्ते और नकली सेनेटाइजर भी ब्लैक फंगस के लिए जिम्मेदार है। इन सस्ते सेनेटाइजरो में मेथेनॉल की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जिस कारण वह ब्लैक फंगस को उगाने में मददगार साबित हो रहा है। मेथेनॉल की मात्रा ज्यादा होने से यह आंखों को नुकसान पहुँचा रही हैं।

IIT-BHU ने रिसर्च में किया खुलासा

IIT-BHU के वैज्ञानिक डॉ. प्रीतम सिंह के अनुसार इन सस्ते और नकली सेनेटाइजर में 5 फ़ीसदी के आसपास मिथेनॉल की मात्रा होती है जो फंगस को उगने में मददगार साबित हो रही है। इस कारण आंखों की रेटिना ख़राब हो जाती हैं और फिर आँख की रोशनी धीरे धीरे कम होने लगती है जिस कारण व्यक्ति अंधा हो जाता है।

 

Leave a Reply