दिल्ली में कोरोना के लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं। इस बीच दिल्ली सरकार द्वारा गाइडलाइन भी जारी की गई है। जिसमें लापरवाही बरतने वाले लोगों से भी जुर्माना वसूल किया जा रहा है। वहीं स्वास्थ्य विभाग द्वारा लोगों की रैंडम सैंपलिंग की जा रहा है। दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों के मद्देनजर एम्स निदेशक निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने युवाओं को सचेत रहने को कहा है।

एम्स निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया के अनुसार युवाओं में कोरोना के मामले अधिक दिख रहे हैं। जबकि उनमें लक्षण हल्के है। ऐसे में उन्होंने युवाओं को अधिक ध्यान देने को कहा है। युवाओं के लापरवाही बरतने से संपर्क में आने वाले अधिक उम्र के लोगों में कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। उनका कहना है कि संक्रमण के मामले यदि अधिक हुए तो एक बार फिर स्वस्थ संसाधनों पर बोझ पड़ सकता है।

 

हालांकि कोरोना को देखते हुए इस समय देश के कई हिस्सों में तरह तरह के प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं लॉकडाउन के विकल्प पर भी विचार किया जा रहा है। इसके अलावा केन्द्र सरकार द्वारा 45 वर्ष से अधिक लोगों पर कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। बुद्धिजीवियों के अनुसार ये कोरोना की दूसरी लहर है जिससे अधिक सचेत होने की जरुरत है।

Leave a comment

Cancel reply