राजधानी दिल्ली में कोरोना की रफ्तार दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। बुधवार को राजधानी में कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 10 हजार 665 पर पहुंच गई। बीते 24 घंटों में अब तक कोरोना से 8 लोगों की मृत्यु दर्ज की गई है। इसी के साथ अब एक्टिव केसों की संख्या बढ़कर 23 हजार 307 पर पहुंच गई है। पाजिटिविटी रेट 11.88 प्रतिशत पर पहुंच गया है।

 

पहले ही ये उम्मीद लगाई जा रही थी कि बुधवार को कोरोना अपने पुराने सभी रिकॉर्ड को तोड़ते हुए चरम पर होगा। शाम को जब रिपोर्ट आई तो वही देखने को मिला। संक्रमण पर लगाम के लिए वीकेंड कर्फ्यू के साथ ही स्कूल कॉलेज को एहतियात के तौर पर बंद कर दिया गया है। दूसरी ओर संक्रमण को रोकने के लिए डीडीएमए की मीटिंग के बाद राजधानी में वीकेंड कर्फ्यू भी लागू कर दिया गया है।

 

कर्फ्यू के बाद अब शुक्रवार को रात 10 बजे से लेकर सोमवार पांच बजे तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान किसी को भी बिना वजह बाहर निकलने पर रोक रहेगी। हालांकि, डॉक्टर के पास आना- जाना या ट्रेन- प्लेन यात्रियों को वैद्य टिकट दिखा कर यात्रा करने की इजाजत है। इसी तरह आवश्यक कामों के लिए यह बंदिश नहीं रहेगी।

दूसरी ओर बच्चों को कोरोना से बचाने के लिए टीकाकरण भी शुरू किया गया है। खासकर 15 से 18 साल तक के बच्चों को सरकार ने टीका लगाने की अनुमति दे दी है। जिसके कारण बच्चे भी बढ़चढ़ कर आगे आ रहे हैं। दिल्ली में मंगलवार को 1,97,923 लोगों ने टीका लिया जिसमें 33,224 किशोर हैं। दिल्ली में अब तक कुल 54,246 किशोरों को पहली डोज लगाई जा चुकी है।

Leave a comment

Cancel reply