Saturday, January 22

आर्थिक मदद पाने के लिए वकीलों ने दी फर्जी कोरोना रिपोर्ट, 10 लोग गिरफ्तार

बार काउंसिल ने माफी वकीलों से मांगने को कहा, वरना होगा एक्शन

दिल्ली बार काउंसिल ने तय किया है कि आर्थिक मदद के लिए उसे लगभग 4,000 वकीलों से जो आवेदन मिले, उन सभी को अब वेरिफाई कराया जाएगा। 200 आवेदनों की जांच में 10 वकीलों की ओर से पेश कोरोना की रिपोर्ट मिलने के बाद फैसला लिया गया। आवेदन देने वालों में से जिस किसी ने भी ऐसा किया हो, उसे इसके लिए माफी मांगने और राहत के तौर पर ली गई रकम अपनी मर्जी से लौटाने का एक मौका दिया गया है।

फर्जी रिपोर्ट देने वाले वकीलों के लाइसेंस सस्पेंड

बार काउंसिल ने फर्जी रिपोर्ट देने वाले वकीलों के लाइसेंस सस्पेंड कर दिए हैं समें कहा गया कि बीसीडी ने तय किया है कि सभी आवेदनों को संबंधित पैथ लैब से वेरिफाई करवाएगी। योजना के तहत लाभ हासिल कर चुके वकीलों को हिदायत दी गई कि अगर उनमें से कोई ऐसा हो जिसने निकाय के सामने कोरोना की झूठी रिपोर्ट पेश की, वह खुद ब खुद मांफी मांग सकता है।

फर्जी रिपोर्ट पर होगी सकथ कारवाही

ऐसे सभी वकीलों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी जिन्होंने मुआवजे के लिए कोरोना की जाली रिपोर्ट पेश की होगी।अब सभी आवेदनों की जांच पैथ लैब से करवाने पर हो रहा है विचार।

Leave a Reply

error: Your Instant article will be Lost.