Thursday, January 21

डीयू की पहली cut off सूची आज हो सकती है जारी: जानिए cut off के बारे में ज़रूरी जानकारी

विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने कहा कि लगभग 65 दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में 70,000 से अधिक under-graduate सीटों के लिए प्रवेश की पहली कट-ऑफ सूची शनिवार को जारी होने की संभावना है। पिछले साल 28 जून को पहली कट-ऑफ सूची की घोषणा की गई थी। इस साल मार्च में कोविड -19 लॉकडाउन के बाद और बोर्ड परीक्षाओं में देरी के चलते प्रवेश प्रक्रिया को आगे बढ़ा दिया गया है। शैक्षिक सत्र 18 नवंबर से शुरू होने की उम्मीद है।

इस वर्ष आपको प्रवेश प्रक्रिया के बारे में चार बातें जानने की आवश्यकता है:

1) प्रवेश समय

चूंकि प्रवेश प्रक्रिया पूरी तरह से ऑनलाइन है इसलिए पात्र आवेदक सोमवार से बुधवार तक पहली कट-ऑफ सूची के तहत प्रवेश ले सकते हैं। दूसरी कट-ऑफ लिस्ट 19 अक्टूबर को घोषित की जाएगी। हर साल आवेदकों को प्रवेश लेने के लिए कॉलेजों का दौरा करना पड़ता था पर इस साल महामारी के कारण, विश्वविद्यालय ने प्रवेश प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया था। अब, छात्र विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपनी मार्कशीट और प्रमाणपत्रों की एक कॉपी अपलोड कर सकते हैं और सत्र दोबारा खुलने पर उन्हें भौतिक रूप से सत्यापित किया जा सकता है।

2) आवेदन की उच्च संख्या

महामारी के बावजूद इस साल दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों में प्रवेश पिछले कई वर्षों की तुलना में आसान नहीं है क्योंकि डीयू को अब तक के सबसे अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं। विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें लगभग 70,000 undergraduate सीटों के लिए 353,153 आवेदन मिले हैं। कॉलेजों ने इस वृद्धि को कई कारकों के लिए जिम्मेदार ठहराया – जिनमें पंजीकरण की लंबी अवधि, कोविड -19 के कारण प्रवेश परीक्षा में स्पष्टता की कमी, लॉकडाउन के कारण विदेशी विश्वविद्यालयों में आवेदन करने में असमर्थता और प्रवेश प्रक्रिया में देरी जिसकी वजह से कई राज्यों के छात्रों ने डीयू में apply कर दिया क्योंकि उनके बोर्ड परीक्षा का परिणाम अगस्त तक आ चुका था।

3) दूसरे राज्यों के आवेदक

कॉलेज प्राचार्यों ने कहा कि ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया की व्यवहार्यता दिल्ली के बाहर के छात्रों को भी आकर्षित करने की संभावना है क्योंकि उन्हें प्रवेश की औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए दिल्ली आने के वित्तीय पहलू पर विचार नहीं करना होगा। डीयू में पढ़ने वाले लगभग 60% छात्र बाहरी दिल्ली से हैं।

4) Cut-off ऊंचे ही रहेंगे

शुक्रवार को कई डीयू कॉलेजों ने कहा कि कट-ऑफ पिछले साल की तुलना से कम होने की संभावना नहीं है और इसके बजाय पाठ्यक्रमों में 0.5 से 1 प्रतिशत अंक की वृद्धि देखने की संभावना है। इस वर्ष कक्षा 12 की केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा में उच्च स्कोरर (90-100%) में तेजी से वृद्धि के लिए इसे जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। कुछ कॉलेजों में 100% के साथ-साथ कट-ऑफ रखने की संभावना है। “कट-ऑफ इस बार बढ़ेगा क्योंकि इस वर्ष अधिक संख्या में छात्रों ने उच्च अंक प्राप्त किए हैं। कट-ऑफ को कम से कम तीन पाठ्यक्रमों के लिए 100% रखने का फैसला किया है”, दक्षिण कैंपस कॉलेज के एक अधिकारी ने कहा।

Leave a Reply