Friday, September 17

दिल्ली के लिए नया TOLL-TAX, 1 सितम्बर से देना पड़ेगा पैसा, लगेगा 60 रुपए कम से कम

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर सफर करने वालों को जल्द ही बड़ा झटका लग सकता है, क्योंकि कुछ समय बाद वाहन चालकों को अब टोल टैक्स देना पड़ेगा। बताया जा रहा है कि सितंबर महीने से वाहन चालकों को दिल्ली मेरठ एक्सप्रेस-वे पर आवागमन के लिए टोल टैक्स देना पड़ सकता है। बताया जा रहा है कि चिपियाना बुजुर्ग पर 6 लेन का रेलवे ओवरब्रिज (Railway Over Bridge) तैयार होने के बाद नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (National Highway Authority of India) ने केंद्रीय परिवहन मंत्रालय से टोल वसूली की मंजूरी मांगी है। यह भी जानकारी सामने आ रही है कि एक सितंबर से दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर टोल वसूली शुरू हो सकती है। कुलमिलाकर एक सितंबर से दिल्ली और उत्तर प्रदेश के साथ अन्य राज्यों के लोगों को भी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर सफर के दौरान टोल देना होगा, जिससे सफर महंगा हो जाएगा।

केंद्रीय परिवहन मंत्रालय के पास टोल टैक्स की मंजूरी के लिए प्रस्ताव भेजा गया है

गौरतलब है कि पिछले तकरीबन 5 महीने से दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे वाहन चालक बिना टोल दिए मुफ्त सफर का आनंद ले रहे हैं। इस बीच चिपियाना (अलीगढ़ रेल लाइन) में छह लेन का रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी) तैयार होने के बाद नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने परिवहन मंत्रालय से टोल वसूली की मंजूरी मांगी है।

एक सितंबर से टोल देकर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर सफर

उधर, मुदित गर्ग (प्रोजेक्ट डायरेक्टर, एनएचएआइ) का कहना है कि फिलहाल चिपियाना बुजुर्ग के पास बने रेलवे ओवर ब्रिज को आगामी 2 दिन के बाद बंद रखा जाएगा। उसके बाद लाइट व अन्य काम पूरा करके इसे खोल दिया जाएगा। इसी बीच टोल वसूली को लेकर एक प्रस्ताव केंद्रीय मंत्रालय के पास भेजा गया है। उम्मीद की जा रही है कि इस महीने के अंत तक यानी 30 अगस्त तक स्वीकृति मिलने की पूरी संभावना है। ऐसे में एक सितंबर से दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर टोल वसूली शुरू हो सकती है।

लिखित मंजूरी मिलते ही शुरू हो जाएगी टोल वसूली

सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय परिवहन मंत्रालय एनएचएआइ के अनुरोध पर अपनी मौखिक सहमति दे चुका है। अगले चरण में लिखित मंजूरी देने जा रहा है। इसके बाद एनएचएआई टोल दरों का प्रकाशन करेगी। ऐसा होती ही दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ के बीच एक सितंबर से टोल लगना शुरू हो सकता है।

बताया जा रहा है कि टोल वसूली का प्रस्ताव 1.60 से 2 रुपये प्रति किमी की दर से करने का प्रस्ताव एनएचएआइ केंद्रीय मंत्रालय के पास भेज चुका है। इस तरह सराय काले खां से मेरठ के बीच 125 से 135 रुपये टोल वसूली हो सकती है और डासना से मेरठ के बीच 60 रुपये टोल वसूलने का प्रस्ताव है।

गौरतलब है कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे निर्माण के साथ-साथ गाजियाबाद के डासना से दिल्ली के सराय काले खां के बीच 2 लेन की सड़क बनाई गई है। इसके साथ ही 6 लेन का एक्सप्रेस-वे सफर के लिए चालू है तो इस पर ही टोल टैक्स लिया जाएगा।

Leave a Reply