Saturday, April 17

दिल्ली के 115 प्राइवेट अस्पतालों में 50% बेड कोविड पेशंट्स के लिए रिजर्व !

दिल्ली सरकार अब कोविद 19 से निपटने के लिए दिल्ली के 115 प्राइवेट अस्पतालों में 50% बेड कोविड पेशंट्स के लिए रिजर्व कर दिया है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली के सभी मेडिकल डायरेक्टरों को आदेश दिया है कि सरकारी अस्पतालों में कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को भर्ती करने में समय नहीं लगना चाहिए। इसके अलावा कोविद के बढ़ते संक्रमण के कारन स्टफ्फ की कमी हो रही है , इसीलिए आयुष और डेंटिस्ट को कोविद अस्पतालों में रकने का फैसला लिया गया है।

अब दिल्ली के प्राइवेट अस्पतालों मैं 25 टेम्पेरोरी बेड रखने का फैसला किया गया है जिससे किसी भी इमरजेंसी से निपटा जा सके। इसके अलावा अधिकतम 10 मिनट में इनकी सभी प्रक्रिया पूरी करने के बाद मरीज को भर्ती करना जरूरी है। ऐसा करने से अस्पताल में संक्रमण को फैलने से भी रोका जा सकता है।

वही बड़े अस्पताल एलएनजेपी और जीटीबी अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए 500-500 बिस्तर बढ़ा दिए हैं। लोकनायक अस्पताल में अब 1500 और जीटीबी में एक हजार बेड कोरोना मरीजों के लिए कर दिया है। बेड्स के अलावा एलएनजेपी में 200 और जीटीबी में 100 वेंटिलेटर भी रिजर्व किए गए हैं। केजरीवाल सकरकार का कहना है की अगर बेड बढ़ा दिए जायेंगे और मात्र १० मिनट में मरीजों की भर्ती होने की प्रक्रिया पूरी हो जायेगी तोह कोरोना को आसानी से रोका जा सकता है।

Leave a Reply