Monday, September 27

दिल्ली में आधा दर्जन लड़कियाँ और 4 लड़के गिरफ़्तार, पुलिस ने दी सूचना, 2 सेंटर पर पड़ा छापा

उत्तर-पश्चिमी जिला पुलिस की साइबर सेल टीम व मुखर्जी नगर थाना पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर सुभाष प्लेस व मुखर्जी नगर थाना क्षेत्र में चल रहे दो फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ किया है। बेरोजगारों को फर्जी डिग्री दिलाकर विदेश भेजने के बहाने ठगने वाली नौ युवतियों समेत 16 को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों की पहचान कपिल, पवन सोनी, सागर, मनीषा वर्मा, नीतू, संतोष कुमार, मुशीर आलम, शादान, समीर, किरण, नानू, उर्वशी, रुखशाना, शीतल, राधा और फौजिया के रूप में हुई है। पुलिस की ओर से काल सेंटर से छह कंप्यूटर, दो लैपटाप, 12 मोबाइल बरामद किए गए हैं। पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपितों ने अभी तक कितने लोगों को ठगा है।

फर्जी काल सेंटर चलने की मिली शिकायत

जिले की पुलिस उपायुक्त ऊषा रंगनानी के अनुसार, बुधवार को सुभाष प्लेस व मुखर्जी नगर इलाके में फर्जी काल सेंटर चलने की शिकायत मिली थी। शिकायतकर्ता ने विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी होने के बारे में शिकायत दी थी। मामला दर्ज कर केस को साइबर सेल को सौंपा गया। साइबर सेल ने दोनों थानों के पुलिस कर्मियों के साथ टीम बनाकर जब जांच शुरू की तो एक मामले में पता चला कि शिकायतकर्ता ने जिस बैंक खाते में पैसे जमा करवाए थे वो आरकेएस साल्यूशंस नाम से था।

विदेश में नौकरी दिलाने पर बेरोजगारों से करते थे ठगी

कपिल और सागर इसे चलाते थे और पहचान छिपाने के लिए एक एप के माध्यम से पीड़ितों को काल किए गए थे। इसके बाद पुलिस टीम ने सुभाष प्लेस स्थित काल सेंटर पर छापेमारी की। इस दौरान दो युवतियों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान आरोपितों ने बताया कि वह विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों को ठगते थे। जांच के दौरान पता चला कि काल सेंटर के कपिल और सागर ने डेवलपर के माध्यम से दो वेबसाइट कार्रर्मी डाट इन और कार्ररबिल्ड डाट इन बनवाई और गोडैडी के साथ पंजीकृत की। उसके बाद आरोपितों ने शाइन डाट काम के माध्यम से नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों का डेटा खरीदा। उन्होंने इसके लिए बकायदा एक टोल फ्री नंबर 18002584514 भी खरीदा था।

सात युवती और चार युवक गिरफ्तार

वहीं दूसरे मामले में जिले की साइबर सेल की दूसरी टीम ने हकीकत नगर इलाके में चल रहे फर्जी काल सेंटर पर छापेमारी की। इस दौरान सात युवती और चार युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान आरोपितों ने बताया कि वह विदेश भेजने, कालेजों में प्रवेश दिलाने और फर्जी डिग्री प्रदान करने के नाम पर लोगों से ठगी करते थे। आरोपितों ने बताया कि वह विभिन्न जाब पार्टल से बेरोजगार युवाओं की जानकारी खरीदते थे व उन्हें काल कर अपने जाल में फंसाते थे। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार कर दोनों काल सेंटर को सील कर दिया है।

 

Leave a Reply