Tuesday, August 3

दिल्ली में आशु नाम के लड़के ने रूम के अंदर जा, लगाया फाँसी, माँ ने PUBG खेलने से मना किया था.

दिल्ली: एक किशोर रोज की तरह अपनी मां के फोन पर गेम खेलने में लगा था। किशोर को जब गेम खेलते हुए काफी वक्त हो गया तो मां ने डांटते हुए गेम खेलने से मना कर दिया। इस बात से किशोर को इतना बुरा लगा कि उसने कमरे में जाकर खुदकुशी कर ली।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया

मृतक की पहचान आशु के रूप में हुई है। स्वजनों ने जब किशोर को फंदे से लटका देखा तो उनके होश उड़ गए। पुलिस ने मौके पर पहुंंचकर शव को फंदे से नीचे उतारा और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। आशंका व्यक्त की जा रही है कि किशोर को पब्जी गेम खेलने की लत थी, अधिकतर समय फोन पर गेम खेलकर गुजारता था।

पिता की है परचून की दुकान

पुलिस के अनुसार आशु परिवार के साथ वेस्ट विनोद नगर में रहता था। परिवार में पिता काकू, मां और अन्य सदस्य हैं। आशु के पिता की घर के नीचे परचून की दुकान है। मंगलवार को आशु मां के फोन पर गेम खेल रहा था। जब किशोर को गेम खेलते हुए काफी वक्त हो गया तो मां ने डांट दिया और गेम छोड़कर पढ़ाई करने के लिए कहा।

मां की डांट से नाराज हो गया किशोर

मां के डांटने से किशोर नाराज हो गया। कुछ ही देर बाद उसने एक कमरे में जाकर फंदे से लटक कर फांसी लगा ली। स्वजनों की नजर जब किशोर पर पड़ी तो घर मे कोहराम मच गया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

छात्र ने छात्रवास की छत से कूदकर जान दी

इधर, एम्स में लगातार आत्महत्या की घटनाएं हो रही हैं। सोमवार शाम एक मेडिकल छात्र ने छात्रवास की छत से छलांग लगाकर जान दे दी। सुरक्षाकर्मियों और अस्पताल के स्टाफ ने छात्र को आनन-फानन में एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया, जहां उसकी मौत हो गई। दक्षिणी दिल्ली के पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि छात्र की पहचान विकास के रूप में की गई है। एमबीबीएस के तीसरे वर्ष के छात्र विकास बेंगलुरु के रहने वाले थे।

Leave a Reply