Friday, April 16

दिल्ली में फ्री वाईफाई लगाने की घोषणा, सीएम केजरीवाल लगाएंगे हॉटस्पॉट नहीं होगी किसानों को दिक्कत.

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और पंजाब सह-प्रभारी राघव चड्ढ़ा ने घोषणा की है कि सिंघु बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों की सुविधा के लिए वाईफाई हॉटस्पॉट लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) समेत पार्टी के विधायक सिंघु बॉर्डर का दौरा करते रहते हैं।

 

किसानों ने सिंघु बॉर्डर पर कमजोर नेटवर्क, खराब कनेक्टिविटी की शिकायत आम आदमी पार्टी से की थी। राघव चड्ढ़ा ने कहा, ‘सेवादार अरविंद केजरीवाल ने सिंघु बॉर्डर पर लंगर से कंबल, पानी समेत सभी जरूरी सुविधाओं का इंतजाम किया है। अब अरविंद केजरीवाल ने फ्री WiFi की सेवा भी शुरू की है ताकि हमारे किसान भाई अपने परिवार के सदस्यों से आसानी से बात कर पाएं।’

आप नेता राघव चड्ढा ने कहा कि किसानों ने कहा कि कमजोर नेटवर्क की वजह से अपने घर-परिवार के लोगों को देख नहीं पा रहे हैं, वीडियो कॉल नहीं कर पा रहे हैं। आप संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तुरंत इस पर ऐक्शन लिया और फिर उनके निर्देशानुसार इस दिशा में काम शुरू किया गया।

कड़ाके की इस ठंड में आंदोलन कर रहे किसानों को जितने भी वाईफाई हॉटस्पॉट की जरूरत पड़ेगी, उतने सिंघु बॉर्डर पर लगाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि ‘रोटी, कपड़ा और मकान, जीवन के लिए ये 3 सबसे जरूरी चीजें होती हैं लेकिन आज की इस दुनिया में एक और चीज इसमें जुड़ गई है और वो है इंटरनेट। इस जरूरत को पूरा करने के लिए आम आदमी पार्टी ने फैसला किया है कि सिंघु बॉर्डर पर जहां जहां हमारे किसान मांग करेंगे, हम वहां फ्री वाईफाई हॉटस्पॉट लगाने की सेवा देंगे ताकि किसान भाई अपने परिवार के लोगों से बात कर पाएं।’

राघव ने कहा, ‘घर से दूर चाहे किसान हो या जवान, उसकी सबसे बड़ी ताकत होती है उसका परिवार। अरविंद केजरीवाल इस बात को समझते हैं, आम आदमी पार्टी इस ताकत को समझती है। इसी को ध्यान में रखते हुए सिंघु बॉर्डर पर वाईफाई हॉटस्पॉट लगाने का फैसला किया गया है। किसानों को जितना कष्ट, जितनी असुविधा और पीड़ा झेलनी पड़ रही है उस पीड़ा को कम करने के लिए हमारा ये छोटा सा प्रयास है ताकि उन्हें थोड़ा आराम दिया जा सके।’

आप विधायक ने कहा कि इस डिजिटल दौर में अच्छे नेटवर्क और इंटरनेट कनेक्शन इसलिए भी जरूरी हैं ताकि किसान अपने ऊपर लग रहे तमाम झूठे आरोपों का पर्दाफाश भी कर सकें। अभी फिलहाल तो ठंड देखते हुए, वहाँ हीटर की जरूरत ज्यादा है। पहले हीटर लगवा देते तो ठीक होता।

Leave a Reply