Friday, September 17

दिल्ली में 30 कामों के लिए अब ऑफ़िस जाने की ज़रूरत नही, Driving लाइसेन्स से लेकर रजिस्ट्री तक सब Faceless

राजधानी दिल्ली में अब लोगों को घर बैठे डीएल समेत तीस से अधिक सुविधाएं मिलेंगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को परिवहन विभाग को फेसलेस (पूरी तरह से आनलाइन) किए जाने की सुविधा का शुभारंभ किया। इस व्यवस्था के लिए परिवहन विभाग 6 साल से काम कर रहा था। इस मौके पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि आज दिल्ली सरकार के लिए खास दिन है। मैं दिल्ली के लोगों को बधाई देना चाहता हूं कि आज परिवहन विभाग को पूरी तरह से आनलाइन किया जा रहा है। इससे पहले सरकार की 150 से अधिक सेवाएं लोगों को घर पर मिल रही हैं। आज की सेवा भी ऐतिहासिक है। अब दफ्तर बंद हो रहे हैं। अभी तक अमेरिका में ऐसा हो रहा था अब दिल्ली में हो रहा है। अब दो कामों के लिए परिवहन विभाग में आना होगा। लाइसेंस के टेस्ट के लिए और फिटनेस के लिए आना होगा और किसी कार्य के लिए नहीं।

 

उन्होंने कहा कि आजादी को आज 75 साल हो गए हैं। मगर सही में आजादी तब मिलेगी जब भ्रष्टाचार और दलाली से आजादी मिलेगी। अब इसके लिए काम शुरू हो चुका है।

इस मौके पर मौजूद परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि आज हम सभी के लिए ऐतिहासिक दिन है। आज हम जो कर रहे हैं यह आने वाले समय में दूसरे राज्यों में इसे किया जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में इसे कर पाने में सफल हुए हैं। हमने इस व्यवस्था को शुरू करने के लिए बहुत लंबा ट्रायल किया है। 19 फरवरी से हम परिवहन विभाग की 33 सेवाएं फेसलेस करने में लगे रहे। सेवाएं 90 फीसद से अधिक आनलाइन कर दी हैं। दिल्ली देश का पहला राज्य है जहां पर ई-लर्निंग लाइसेंस को शुरू किया गया है।

वहीं, परिवहन आयुक्त आशीष कुंद्रा ने कहा कि 2015 में परिवहन कार्यालयों में लंबी लाइनें लगती थीं। फिर धीरे धीरे परिवहन विभाग को आनलाइन किए जाने की प्रक्रिया शुरू की गई। आज हम विभाग को पूरी तरह से आनलाइन करने की स्थिति में पहुंचे हैं।  मुख्य सचिव विजय देव ने कहा कि फेसलेस सेवा दिल्ली के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इससे लोगों को बहुत लाभ मिलेगा। लोगों का जीवन यापन आसान हो जाएगा।

Leave a Reply