Friday, September 17

दिल्ली सरकार ने Private स्कूल के ‘फीस बढ़ोतरी’ को देखते हुए , कई स्कूल लिए अपने हाथ में

सरकार ने अपने हाथ में लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी

दिल्ली सरकार ने गुरुवार को कहा कि उसने मनमाने ढंग से फीस वृद्धि के आधार पर रोहिणी में बाल भारती पब्लिक स्कूल का प्रबंधन अपने हाथ में लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

कई अन्य स्कूल का लिया भार

यह एक अन्य प्रमुख निजी स्कूल के खिलाफ इसी तरह के कदम के एक दिन बाद आया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को इसी तरह के आरोपों पर एपीजे स्कूल, शेख सराय के अधिग्रहण के लिए शिक्षा निदेशालय (डीओई) की सिफारिश को मंजूरी दे दी थी।

अधिग्रहण के लिए डीओई से की सिफारिश

सरकारी प्रतिनिधियों के अनुसार, केजरीवाल ने बाल भारती पब्लिक स्कूल रोहिणी के प्रबंधन के अधिग्रहण के लिए डीओई से इसी तरह की सिफारिश को मंजूरी दी थी, और फाइल को अब उपराज्यपाल ने मंजूरी दे दी है। शिक्षा निदेशालय ने वित्तीय वर्ष 2016-2017 से 2017-2018 के लिए बाल भारती स्कूल के वित्तीय विवरणों का गहन निरीक्षण किया था। अभिलेखों के विस्तृत निरीक्षण के दौरान, शिक्षा निदेशालय ने पाया कि वर्ष 2017-2018 के लिए स्कूल के पास कुल धनराशि 23,81,82,958 रुपये थी, जिसमें से खर्च 20,94,38,802 रुपये होने का अनुमान है। उस राशि को खर्च करने के बाद भी, स्कूल प्रबंधन के पास लगभग 2,87,44,156 रुपये का शुद्ध अधिशेष था। इसके बाद शिक्षा निदेशालय इस नतीजे पर पहुंचा कि स्कूल प्रबंधन को फीस बढ़ाने की कोई जरूरत नहीं है.

Leave a Reply