Saturday, May 8

पूरे दिल्ली में LOCKDOWN 3.0 में हुआ बदलाव, बजार, होटेल, जिम सब पर दुबारा से LOCKDOWN

Delhi Unlock 3.0: कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण अभी होटल, जिम और साप्ताहिक बाजार खोलने के पक्ष में नहीं है। कोरोना संक्रमण के मामलों की प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है। हालात सामान्य होने पर ही इस बारे में फैसला लिया जाएगा। दिल्ली सरकार आर्थिक गतिविधियां खोलने के पक्ष में है, ताकि दिल्ली में लोगों की जिंदगी ढर्रे पर आ सके। इसे लेकर पिछले माह दिल्ली सरकार ने होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दी थी, लेकिन उपराज्यपाल ने इसे अगले ही दिन निरस्त कर दिया था।

इसके बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्रीय गृह मंत्री को पत्र लिखकर दिल्ली में साप्ताहिक बाजार व होटल खोलने के लिए उपराज्यपाल को निर्देशित करने का अनुरोध किया था। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने पिछले सप्ताह फिर से उपराज्यपाल के पास फाइल भेजी है। इसमें होटल, जिम व साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति देने की मांग की गई है। उपराज्यपाल कार्यालय से जुड़े सूत्रों के मुताबिक संक्रमण की स्थिति को देखते हुए इस माह भी होटल और जिम खोलने की अनुमति मिलने की उम्मीद नहीं है।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने के लिए शिक्षा मंंत्री मनीष सिसोदिया ने गृह मंत्री अमित शाह को एक पत्र भी लिखा था। पत्र में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा था कि दिल्ली सरकार होटल और साप्ताहिक बाजार को खोलने के प्रस्ताव को मंगलवार को दोबारा उपराज्यपाल के पास भेजेगी। उन्होंने पत्र लिखकर अमित शाह से गुजारिश की थी कि होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने के लिए उपराज्यपाल अनिल बैजल को अनुमति देने का निर्देश दिया जाए। पत्र में मनीष सिसोदिया ने लिखा था- ‘मेरा अनुरोध है कि आप उपराज्यपाल को प्रस्ताव अस्वीकार न करने को कहें। व्यापारी जब व्यापार शुरू करेंगे, तो रोजगार उत्पन्न होगा और आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।’

ट्रायल बेस पर खोलना था साप्ताहिक बाजार

दिल्ली सरकार ने एलान किया था कि साप्ताहिक बाजार ट्रायल बेस पर खोले जाएं। इस दौरान सभी से शारीरिक दूरी का पालन करने और मास्क लगाने की हिदायत भी दी गई थी। होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने के पीछे सरकार का तर्क है कि इससे बड़ी संख्या में लोगों का रोजगार जुड़ा हुआ है। चार महीने से न तो होटल बंद हैं और साप्ताहिक बाजार ठप हैं, ऐसे में लोगों के सामने 2 जून की रोटी का संकट आन पड़ा है। 

Leave a Reply