Friday, January 22

पड़ोसी राज्यों में किसान प्रदर्शन के कारण दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में तैनात किया गया पुलिस बल

रविवार के दिन दिल्ली पुलिस ने एहतियात के तौर पे सीमावर्ती इलाकों में पुलिसकर्मी तैनात किए है। हालांकि अभी सीमा पर कोई भी प्रदर्शनकारी नहीं है लेकिन दिल्ली-हरियाणा सीमा पे पुलिस की सतर्कता बढ़ा दी गयी है क्योंकि हरियाणा में किसान प्रदर्शन बहुत ज़ोरों से चल रहा है।गौरतलब है कि भारतीय किसान यूनियन की हरियाणा इकाई ने ये घोषणा की है कि वे केंद्र सरकार के विरुद्ध उनके सदस्य तीन घंटे चक्का जाम करके राज्यव्यापी प्रदर्शन करेंगे।

बात ये है कि तीनों कृषि विधेयक राज्यसभा में भारी हंगामे के बीच पारित हो गए है। विपक्षी दलों के भारी विरोध के बावजूद इन विधेयकों को ध्वनि मत से पास कराया गया। सरकार की इस हरकत पर तंज कसते हुए टीएमसी के सांसद डेरेक ओब्रायन ने कहा है कि यह दिन गलत कारणों की वजह से एक ऐतिहासिक दिन है। वही भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा का ये कहना है कि देश के किसानों को उनका अधिकार दिलाने के लिए यह बिल बनाया गया है।

नड्डा ने राज्यसभा में विपक्ष द्वारा हुए हंगामे की कड़ी निंदा की है और कहा है कि ऐसा करने से प्रजातंत्र को क्षति पहुंचती है। विपक्ष को किसान विरोधी बताते हुए नड्डा ने कहा कि पिछले 70 सालों में किसानों के साथ जो शोषण हुआ है, उसको खत्म करने का काम सरकार नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कर रही है और विपक्ष ने किसानों के साथ सभ्यता की ताक में कई दशकों से जो दुर्व्यवहार किया है वो बहुत निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण है।

Leave a Reply