Wednesday, October 20

बकरीद पर बकरों के नहीं लगे बाजार, कपड़ों की हुई जमकर खरीदारी

बकरीद पर बकरों के नहीं लगे बाजार

बकरीद के मौके पर यह कुर्बानी का त्योहार है और बकरों का कोई बाजार नहीं लगा सका इसलिए लोगों में कुछ निराशा भी है। लेकिन दूसरी तरफ लोग ईद के लिए नए कपड़ों की भी खरीदारी कर रहे हैं। इस वजह से बाजारों की भी रौनक लौटी है। कुर्बानी के लिए जो लोग काफी पहले से ही बकरों की खरीदारी में लगे थे उन्हें तो कुछ बकरे मिल गए लेकिन ईद से दो-तीन दिन पहले जो लोग निकले उन्हें निराशा ही हाथ लगी।

कपड़ों की हुई जमकर खरीदारी

दरअसल, इस बार कोविड के पाबंदियों के चलते जामा मस्जिद समेत उन सभी इलाकों में बकरों के बाजार नहीं लग पाए जहां से दिल्लीवाले खरीदारी करते थे। बकरों के बाजार भले न लग पाएं हों लेकिन लोगों ने कपड़ों की खरीदारी खूब की। खासतौर से पुरानी दिल्ली, ओखला और नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली के कई बाजारों में काफी रौनक दिखी।

कुर्बानी और नमाज को लेकर अपील

फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मुकर्रम अहमद ने बताया कि हम लगातार पिछले कई दिनों से लोगों से यह अपील कर रहे हैं कि ईद जरूर मनाएं लेकिन सरकार और प्रशासन ने जो नियम और कायदे बनाएं हैं उनके दायरे में रहकर ही मनाएं। मस्जिदों और ईदगाहों में भीड़ न लगाएं। दिल्ली की सभी बड़ी मस्जिदों में ऐलान हो चुका है कि ईद की नमाज में सिर्फ मस्जिद के स्टाफ को लोग ही शामिल होंगे। इसके अलावा कुर्बानी को लेकर भी उन्होंने अपील की है।

Leave a Reply