Saturday, June 19

ब्लैक फंगस के शिकार में 5 लोगों की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में सर्जरी हुई, एक मरीज की आंख निकालनी पड़ी

कोविद के बाद म्यूकोरमाइकोसिस के चपेट में दिल्ली

म्यूकोरमाइकोसिस के केस दिल्ली और देश में दिनोंदिन बढ़ते जा रहे हैं। सिर्फ एम्स में 23 मामले सामने आ चुके हैं। अपोलो में भी 10 मरीजों का इलाज किया जा चुका है। गंगाराम अस्पताल में भी म्यूकोरमाइकोसिस के कई मरीज आए हैं। वही इसके शिकार हुए 5 लोगों की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में सर्जरी हुई, हालांकि एक मरीज की आंख निकालनी पड़ी।

10 मरीजों मैं 5 की हुई सर्जरी

दिल्ली के अप्पलो अस्पताल में पिछले एक हफ्ते में डॉक्टर्स ने 10 मरीजों का इलाज किया है। इसमें से 5 की सर्जरी की गई। उन्होंने कहा कि 5 में से 4 की साइनस की सर्जरी की गई और एक मरीज की साइनस और आंख की सर्जरी की गई। एक तक आंख निकालनी पड़ी। डॉक्टर का कहना है कि इस संक्रमण से टिशू डैमेज हो जाता है, काला पड़ जाता है। ऐसी स्थिति में इलाज का असर नहीं होता है। उस टिशू को निकालना पड़ता है।

कैसे बचे ?

> ब्लैक फंगस से बचने के लिये धूल वाली जगह पर मास्क पहनकर जाये
> मिट्टी, काई के पास जाते समय जूते, ग्लब्स, फुल टीशर्ट और ट्राउजर पहने
> डायबिटीज पर कंट्रोल, इम्यूनोमॉड्यूलेटिंग या स्टेरॉयड का कम से कम इस्तेमाल कर
> एंटीबायोटिक्स या एंटीफंगल दवा का इस्तेमाल जरूरत पड़ने पर ही करना चाहिए
> स्टेरॉयड का उपयोग दस दिनों से अधिक नहीं किया जाना चाहिए, स्टेरॉयड का उपयोग होम आइसोलेशन के बाद नहीं करें।

Leave a Reply