Sunday, September 19

भारत के 5 सबसे डरावने और भूतिया रेलवे स्टेशन, शाम होते ही यहा हो जाता है सन्नाटा

भारत के 5 सबसे डरावने रेलवे स्टेशन

भारतीय रेलवे Aisa का दूसरा और दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन है। भारतीय रेलवे से हर रोज लाखों लोग सफर करते हैं। भारत में कुल 8,000 रेलवे स्टेशन हैं। इनमें से कुछ रेलवे स्टेशन इतने डरावने हैं कि लोग इन्हें भूतिया मानते हैं और शाम होते ही इन स्टेशनों पर बिल्कुल सन्नाटा हो जाता है।

यह हैं 5 सबसे डरावने और भूतिया रेलवे स्टेशन 

नैनी जंक्शन

नैनी जंक्शन उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में स्थित हैं। इस रेलवे स्टेशन के पास ही नैनी जेल है। लोग इस रेलवे स्टेशन को भूतिया मानते हैं उनका कहना हैं की यातनाओं की वजह से ही नैनी जेल में बंद कई स्वतंत्रता सेनानियों की मौत हो गई जिस कारण उनकी आत्माएं यहा आज भी घूमती हैं।

चित्तूर रेलवे स्टेशन

चित्तूर रेलवे स्टेशन आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित हैं। यहा के लोगों का मानना है कि हरी सिंह नामक एक CRPF जवान को बहुत साल पहले ट्रेन से उतरने के बाद टीटीई और आरपीएफ ने मिलकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई थी। इस घटना के बाद से ही चित्तूर रेलवे स्टेशन पर हरी सिंह की आत्मा भटकती रहती है।

मुलुंड रेलवे स्टेशन

मुलुंड रेलवे स्टेशन मुंबई में स्थित है। यात्रियों और वहा रहने वाले लोगों का कहना हैं कि उन्हें मुलुंड रेलवे स्टेशन पर चीखने-चिल्लाने के साथ-साथ रोने की आवाजें सुनाई देती हैं।

बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन

बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में स्थित हैं। यहा की कहानी तो काफी रोचक है। इस रेलवे स्टेशन को तो 42 सालों तक भूतिया दावों की वजह से बंद रखा गया था। हालांकि, साल 2009 में इस स्टेशन को फिर से खोल दिया गया हैं।

बड़ोग रेलवे स्टेशन

बड़ोग रेलवे स्टेशन हिमाचल प्रदेश के सोलन में स्थित है। यह रेलवे स्टेशन जितना ही खूबसूरत है, उसे भी ज्यादा डरावना और भूतिया भी है। बड़ोग रेलवे स्टेशन ठीक बगल में एक सुरंग है जिसका निर्माण एक ब्रिटिश इंजीनियर कर्नल बड़ोग ने कराया था। कर्नल बड़ोग ने बाद में वही आत्महत्या कर ली थी जिस कारण वहा के लोगों का मानना है कि इस सुरंग में कर्नल बड़ोग की आत्मा घूमती रहती है।

About Shikha Karn

Journalist from Delhi. Sharing developments buzz of Delhi keeps positive in me and I share the vibe via www.delhibreakings.com

Leave a Reply