Monday, September 27

मॉनसून सत्र : हंगामे के कारण इस बार 7 दिनों की कार्यवाही में केवल 12 घंटे चली संसद

लोकसभा 4 घंटे और राज्यसभा सिर्फ 8.2 घंटे ही चल पाई

मॉनसून सत्र का दूसरा हफ्ता खत्म होने को है, लेकिन संसद में शांति भंग का सिलसिला खत्म नहीं हुआ है. पेगासस जासूसी कांड पर चर्चा की मांग को लेकर जहां विपक्ष अड़ा है, वहीं सरकार अड़ी है कि विपक्ष को सियासी स्कोर नहीं करने देंगे.  19 जुलाई से शुरू हुए मॉनसून सत्र में 9 दिन संसद चली है. पिछले 7 की कार्यवाही की बात करें तो लोकसभा 4 घंटे और राज्यसभा सिर्फ 8.2 घंटे ही चल पाई है ।

लोकसभा में तूतू -मेंमें

लोकसभा में गुरुवार को बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने टीएमसी सांसद पर बड़ा आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने मुझे ”बिहारी गुंडा’कहा. उन्होंने कहा कि आईटी से जुड़ी संसदीय समिति की बैठक के दौरान महुआ मोइत्रा ने ये शब्द कहे. यह विभाजनकारी राजनीति है. निशिकांत दुबे ने इस मामले की शिकायत की ।

उठाए गए कई मुद्दे

ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत नहीं’ जब बीजेपी ने यह कहा तो सिर्फ संसद ही नहीं पूरे देश में बहस छिड़ गई , इसके अलावा किसान और पेगासस जासूसी कांड पर भी मुद्दा छेड़ा गया , सदन मेंइन मुद्दों को लेकर जमकर नारेबाजी देखने को मिली है.जिस कारण संसद को स्थगित करना परा ओम बिरला ने चेतावनी देते हुए कहा कि लोकसभा स्पीकर या सभापति पर कागज फेंकना स्वीकार्य नहीं है. सदन के सदस्य लाखों लोगों का प्रतिनिधित्व करते है और ऐसी घटनाएं दोहराई जा रही हैं. अब ऐसी घटना दोहराने पर कार्रवाई की जा सकती है.

Leave a Reply