Thursday, January 28

यूपी में गैंगरेप से पैदा हुए आक्रोश को मध्यनज़र रखते हुए इंडिया गेट पर सभाओं पे लगाया प्रतिबंध

पुलिस ने आज कहा कि मध्य दिल्ली में इंडिया गेट के आसपास सभी प्रकार की सभाओं पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। हालांकि कुल 100 लोग इंडिया गेट से 3 किमी दूर जंतर मंतर पर हो सकते हैं अगर उनके पास “सक्षम प्राधिकारी” की अनुमति है। दिल्ली पुलिस ने ट्वीट किया, “धारा 144 लागू करने के कारण इंडिया गेट के आसपास किसी भी प्रकार की सभा (विरोध आंदोलन) होने की अनुमति नहीं है।”

उत्तर प्रदेश के हाथरस के 20 वर्षीय पीड़िता के लिए कल इंडिया गेट पर एक विरोध सभा की योजना बनाई गई थी जिसके सामूहिक बलात्कार और क्रूर अत्याचार ने लोगो को निर्भया की याद दिला दी थी। तिथि का चुनाव महत्वपूर्ण था – 2 अक्टूबर महात्मा गांधी की जयंती है, जो तथाकथित निम्न जातियों के उत्पीड़ित सदस्यों के लिए आवाज उठाने वालों में से थे। दो सप्ताह तक अपनी जिंदगी की लड़ाई लड़ने के बाद अनुसूचित जाति की पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में मंगलवार को मौत हो गई।

इस मामले ने पूरे देश में आघात और आक्रोश पैदा कर दिया है और आठ साल पहले दिल्ली की 23 वर्षीय महिला निर्भया की निर्मम हत्या के साथ समानताएं निकाली गई थीं जिसमें लोग सड़कों पर उतरे थे। इनमें से सबसे बड़ा विरोध प्रदर्शन दिल्ली के इंडिया गेट पर हुआ था। पिछले तीन दिनों में राज्य सरकार की तीखी आलोचना और हाथरस की पीड़िता के लिए न्याय की मांग ने सोशल मीडिया पर ज़ोर डाला।

Leave a Reply