Saturday, January 22

10 गुना सस्ता हुआ दिल्ली NCR में पुरानी गाड़ियों का बाज़ार, 2 लाख तक में 12 लाख वाली गाड़ी की हो रही बिक्री

दिल्ली सहित एनसीआर में 10 साल पुरानी डीजल और 15 साल पुरानी पेट्रोल पर आधारित गाडि़यों के प्रतिबंध से पुराने वाहनों की खरीद-फरोख्त का बाजार इन दिनों खूब गुलजार है। पुरानी कारों के डीलर के अनुमान मानें तो दिल्ली एनसीआर में प्रतिदिन 200 पुरानी गाडि़यां बिक रही हैं। इनमें 10 साल पुरानी डीजल आधारित ईंधन की ऐसी कारों की मांग सबसे ज्यादा है, जिनका कभी एक्सीडेंट नहीं हुआ हो (अनटच) और कम किलोमीटर चली हों। एनसीआर के फरीदाबाद, गुरुग्राम, नोएडा, गाजियाबाद में तो रजिस्ट्रेशन अथारिटी से प्रतिबंधित पुरानी कारों का दूसरे राज्यों में रजिस्ट्रेशन के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) भी मिल रहा है।

 

महंगी लग्जरी गाडि़यां सबसे ज्यादा चंडीगढ़, झारखंड के रांची और दक्षिण भारत के प्रमुख शहरों में बिक रही हैं। इन शहरों के पुरानी कार बेचने वाले डीलर दिल्ली एनसीआर में पुरानी कारों के डीलर से संपर्क कर ऐसी कार खरीद रहे हैं। पेट्रोल की 15 साल पुरानी गाडि़यों की पुरानी कार बाजार में कोई मांग नहीं है।10 लाख में बिक रही हैं एक करोड़ की गाड़ीआडी क्यू-7 नई खरीदो तो इसकी कीमत इस समय एक करोड़ रुपये है मगर 10 साल पुरानी डीलज की यह लग्जरी कार महज 10 लाख रुपये में बिक रही है। इसी तरह जैगवार के टाप माडल की नई कार की कीमत 1.30 करोड़ रुपये है। ऐसी 10 साल पुरानी डीजल की कार 12 लाख रुपये में बिक रही है।

 

सस्ते में मिल रही लग्जरी गाड़ियां

पुरानी कारों के फरीदाबाद में डीलर सुशील कुमार बताते हैं कि इस सप्ताह में उन्होंने टाप माडल की एक जैगवार कार महज 12 लाख रुपये में बिकवाई है। यह कार एक व्यक्ति ने शौकिया रखी हुई थी। उसने इसे 10 साल में महज 45 हजार किलोमीटर ही चलाया था। कमोबेश यही हाल बीएमडब्ल्यू ब्रांड की कारों का है। पांच लाख से 10 लाख कीमत की गाडि़यां पंजाब में बिक रही हैं जिन नई गाडि़यों की कीमत पांच लाख से 10 लाख रुपये है, ऐसी पुरानी गाडि़यां भी एक से तीन लाख रुपये के बीच में बिक रही हैं। इनकी सबसे ज्यादा मांग पंजाब, रांची और पटना में है।

 

दक्षिण भारत के प्रमुख शहरों में है सभी तरह की पुरानी गाडि़यां की मांग

दक्षिण भारत के प्रमुख शहर बेंगलरु, चेन्नई, हैदराबाद में सभी तरह की पुरानी गाडि़यों की मांग है। इन शहरों में दिल्ली एनसीआर की तरह तीन या पांच साल बाद नई गाड़ी खरीदने का प्रचलन नहीं है। दक्षिण भारत में आमतौर पर लोग पहले पुरानी कार और बाद में नई कार खरीदते हैं। आनलाइन पुरानी कार खरीद-फरोख्त करने वाली कंपनियां भी दिल्ली एनसीआर में गाडि़यों की खूब खरीद-फरोख्त कर रही हैं मगर इनसे ज्यादा पुरानी कारों की खरीद-फरोख्त पुरानी कारों के डीलर कर रहे हैं। इसका कारण यह बताया गया है कि आनलाइन कार बाजार से ये डीलर ज्यादा कीमत दे देते हैं।-सुशील कुमार, पुरानी कार डीलर, फरीदाबाद

Leave a Reply

error: Your Instant article will be Lost.