Sunday, October 17

दिल्ली में 35 टीम तैनात, 10 हज़ार का चालान कटना हुआ चालू, 13 लाख गाड़ियों को भेजा विभाग ने SMS

ठंड की आहट के साथ ही दिल्ली-एनसीआर में वायु प्रदूषण में धीरे-धीरे इजाफा होने लगा है। इस बीच वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी सरकार ने तैयारी कर ली है। इसके तहत प्रदूषण प्रमाण पत्र (PUC) सर्टिफिकेट जारी नहीं करवाने वाले 13 लाख वाहन माल‍िकों को मैसेज के जर‍िये दिल्ली परिवहन व‍िभाग ने सूचना भेज कर आगाह किया है। इसके बाद वैध पीयूसीसी (PUCC) नहीं होने पर 10,000 रुपये का चालान काटने का प्रावधान है। फिलहाल दिल्ली परिवहन विभाग की 30 से अधिक टीमें सड़कों पर उतरकर लगातार कार्रवाई कर रही हैं।

 

उधर, राजधानी दिल्ली में इन दिनों पाल्यूशन अंडर कंट्रोल (पीयूसी) सर्टिफिकेट नहीं होने पर यातायात पुलिस लगातार चालान काट रही है। चालान की राशि भी 10 हजार रुपये भुगती जा रही है। इसके चलते लोग अब बड़ी संख्या में पेट्रोल पंप पर सर्टिफिकेट बनवाने के लिए पहुंच रहे हैं, जिसके चलते विभाग का साफ्टवेयर हैंग होने लगा है। इसकी वजह से लोगों को परेशानी हो रही है, जो एक से दो घंटे तक पंप पर इंतजार कर रहे हैं।

दिल्ली गेट स्थित पेट्रोल पंप पर पीयूसी सर्टिफिकेट बनाने वाले संचालकों का कहना है कि इन दिनों दिल्ली में बड़ी संख्या में पुलिस चालान कर रही हैं, जिसके चलते सर्टिफिकेट बनवाने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ने लगी है। इसकी वजह से साफ्टवेयर हैंग हो रहा है और लोगों को दिक्कत ङोलनी पड़ रही है। यह गाड़ियों को जांचते समय बीच में ही बंद हो जा रहा है। इस वजह से एक गाड़ी को जांचने में आधे से एक घंटा तक लग रहा है। इसके कारण पेट्रोल पंप पर प्रदूषण जांच कराने वाले वाहनों की संख्या बढ़ जा रही है, जिसके कारण उन्हें दो घंटे तक का इंतजार करना पड़ रहा है।

करोलबाग रोड स्थित पेट्रोल पंप के पाल्यूशन बनाने वाले सुरेश कुमार ने कहा कि पीयूसी बनाने का साफ्टवेयर अधिक लोगों के साथ आने के कारण हैंग हो जाता है, जिसके चलते देरी होती है। पीयूसी सर्टिफिकेट बनवाने के लिए पहुंचे कपिल कुमार व विनीत सिंह ने बताया कि उनका चालान 10 हजार रुपये का काटा गया था, जिसके बाद अब वह सर्टिफिकेट बनवाने आए हैं।

Leave a Reply