Friday, April 23

दिल्ली में न्यूज़ चैनल का स्टेट हेड करता था गाड़ियों की चोरी, नाम पता के साथ चोरों की लिस्ट जारी

दिल्ली में न्यूज़ चैनल का स्टेट हेड करता था चोरी.

एक न्यूज चैनल के स्टेट हेड रह चुके शख्स का चौकाने वाला सच सामने आया है। जिसमें पता चला है कि यह शख्स कारों की चोरी करवाने के बाद उसे अपने सहयोगीयों की मदद से नेपाल और उत्तर पूर्वी राज्यों में बेचने का काम करता था। दक्षिण-पूर्वी जिले की वाहन चोरी निरोधक शाखा ने आरोपी और दो वाहन चोर को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से दस कारें, दो ईसीएम सेट, तीन चाबियां व अन्य चोरी के सामान बरामद किए हैं। वहीं इस मामले में पुलिस द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी से दस मामले सुलझाने का दावा किया गया है।

 

 

चोरी की कार में ही घूम रहे थे आरोपी

इस मामले में एक बयान जारी करते हुए जिला पुलिस उपायुक्त आरपी मीणा ने बताया कि गिरफ्तार किए गए तीनों लोग जिस कार में मौजूद थे ,वह एक चोरी की गई कार थी। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान नरेला निवासी लखविंदर सिंह, अलीपुर निवासी रिजवान और कानपुर रोड, लखनऊ, यूपी निवासी सत्यम गुप्ता के रूप में हुई है। सत्यम गुप्ता खरीदार है। बता दें कि इसमें सत्यम गुप्ता ही न्यूज़ चैनल का पूर्व स्टेट हेड है। वहीं पूरे मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि बृहस्पतिवार शाम करीब छह बजे श्रीनिवासपुरी लालबत्ती पर पुलिस टीम ने लाजपत नगर की ओर से आ रही एक कार को रुकवाया। कार में तीन लोग सवार थे।इस दौरान हुए पूछताछ और इसके आगे की जांच की कार्यवाही में पता चला कि यह चोरी की कार है। जो न्यू फ्रेंडस कॉलोनी इलाके से चोरी हुई थी।

 

 

इसी आधार पर पुलिस ने कार में सवार तीनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया। इनकी निशानदेही पर पुलिस ने ओखला मंडी से नौ और अन्य कारें बरामद कीं। पूछताछ के दौरान लखविंदर ने पुलिस को बताया कि लॉकडाउन से पहलेे वह नरेला के वेल्डिंग दुकान में काम करता था। नौकरी छूटने के बाद वह रिजवान के साथ वाहन चोरी करने लगा। वहीं, रिजवान ने बताया कि लॉकडाउन से पहले वह कार चलाता था। वाहनों की चोरी करने के बाद वह सत्यम गुप्ता को दे देता था।

 

 

मामले से जुड़े अन्य आरोपियों की जांच जारी

वहीं पूरा सच सामने आने पर सत्यम गुप्ता ने भी अपना जुर्म कुबूल किया और बताया कि वह लखनऊ में एक एफएम न्यूज में काम करता था। चार माह पहले वह न्यू चैनल का स्टेट हेड था। वेतन के मसले पर विवाद होने पर उसने वह नौकरी छोड़ दी । वह चोरी की कार को अपने एक सहयोगी कुलदीप के जरिये नेपाल और उत्तर- पूर्वी राज्यों में बेच देता है। वहीं जांच के दौरान पता चला कि सत्यम गुप्ता इसी साल जुलाई माह में लखनऊ में गैंगस्टर एक्ट में जेल जा चुका है। पुलिस कुलदीप व अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है।

Leave a Reply