Saturday, June 19

UK में वैक्सीन की डोज के लिए gap घटाकर 8 हफ्ते हुआ वही भारत में गैप बढ़ाकर 16 हफ्ते , देश कैसे जीतेगा कोरोना से ?

ऐसे देश कैसे जीतेगा कोरोना से जंग ?

एक तरफ यूके के पीएम बोरिस जॉनसन का कहना है कि कोविड टीके की दूसरी खुराक 50 से अधिक के लिए और चिकित्सकीय रूप से कमजोर होने की वजह और तेज की सकती है , यानि की UK में वैक्सीन की दूसरी डोज के लिए #gap 12 हफ्ते से #घटाकर 8 हफ्ते कर दिया गया है जिससे कोरोना को जल्द मात दे सके । वही भारत में प्रधानमंत्री ने एक्सपर्ट्स का हवाला देते हुए gap बढ़ा कर 12 से 16 हफ्ते कर दिया , क्या वैक्सीन की कमी PM को यह कदम लेने पर मजबूर कर रही है ?

वैक्सीन बेचने के बाद देश के पास की कमी

आर वर्ल्ड इन डेटा की रिपोर्ट के अनुसार ,20 अप्रैल, 2021 को दुनिया भर में प्रशासित COVID-19 वैक्सीन खुराक की कुल संख्या 928.68 मिलियन थी। भारत ने केवल अमेरिका के बाद, 213.39 मिलियन और चीन में 195.02 मिलियन के साथ खुराकें दी थीं। अमेरिका की लगभग 40 % आबादी को वैक्सीन मिली ,वही भारत में केवल 8 % भारतीय आबादी को, कम से कम एक खुराक प्राप्त हुई।

भारत के विदेश मंत्रालय के अनुसार, भारत ने 22 अप्रैल तक 94 देशों को 66 मिलियन खुराक का निर्यात किया था। इसमें से केवल 10.61 मिलियन अनुदान थे; जिसको को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) द्वारा निर्यात किया गया था, आंशिक रूप से COVAX गठबंधन के साथ अपने अनुबंध को पूरा करने के लिए और आंशिक रूप से विदेशों में प्रत्यक्ष बिक्री के रूप में भारत ने यह कदम उठाया था। अब असर यह हुआ है की आत्मनिर्भर भारत के पास आपने ही लोगों को वैक्सीन देने के लिए कुछ नहीं बचा है।

Leave a Reply