Wednesday, August 17

नॉएडा में महिला के साथ गाली गलौज करने वाला ये नेता खुद लड़की लेकर पहुँच गया था फ़्लैट पर, 2020 में जानिए क्या हुआ था

खुद को भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा का सदस्य बताने वाले श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) पर नोएडा पुलिस (Noida Police) ने एक महिला को धमकी और गाली देने का मामला दर्ज किया है. ये वाक्या नोएडा की ओमैक्स सोसाइटी में हुआ था. घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमें श्रीकांत त्यागी को एक महिला के साथ उलझते हुए देखा जा सकता है. वहीं बीजेपी (BJP) ने इस मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि श्रीकांत त्यागी बीजेपी का सदस्य नहीं है. बहरहाल ये पहला मामला नहीं है, श्रीकांत त्यागी इससे पहले भी सुर्खियों में रहा है.

 

 

फरवरी 2020 में श्रीकांत त्यागी की पत्नी ने उसको एक अन्य महिला के साथ किराए के फ्लैट में पकड़ा था.

श्रीकांत त्यागी को उसकी पत्नी ने लखनऊ के गोमती नगर इलाके के ग्रीनवुड्स अपार्टमेंट में एक महिला के साथ पकड़ा था. श्रीकांत की पत्नी को उसके अवैध संबंध का पता चला और वह उसका पीछा करते हुए उस फ्लैट में पहुंच गई जहां वह किसी और महिला के साथ था. गोमती नगर थाने में एक-दूसरे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद दोनों महिलाओं के बीच मारपीट भी हो गई थी.

पत्नी और महिला मित्र ने करवाए थे केस दर्ज

श्रीकांत त्यागी की महिला मित्र ने तब कथित तौर पर बड़े लोगों कनेक्शन का हवाला देते हुए पुलिसकर्मियों को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी थी. पुलिस ने त्यागी की पत्नी के कहने पर उस महिला के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 352, 323, 504, 506 और 427 के तहत प्राथमिकी दर्ज की थी. महिला ने भी श्रीकांत त्यागी की पत्नी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी. उस वक्त भी श्रीकांत त्यागी ने खुद को भारतीय जनता पार्टी के किसान मोर्चा राष्ट्रीय कार्यकारिणी का सदस्य बताया था.

नए मामले के बाद श्रीकांत त्यागी फरार

वहीं महिला से बदसलूकी के मामले को लेकर पुलिस लगातार दबिश दे रही है. इस मामले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया है. हालांकि श्रीकांत त्यागी (Shrikant Tyagi) अभी फरार है और उसको गिरफ्तार करने के लिए धरपकड़ जारी है. राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने भी इस मामले का संज्ञान लिया है. आयोग ने यूपी (UP) के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर आरोपियों की गिरफ्तारी और मामले में आगे की कार्रवाई करने की मांग की है. साथ ही पीड़ित महिला को सुरक्षा मुहैया कराने के लिए भी लिखा है.

Leave a Reply