Wednesday, August 17

पुराना नम्बर प्लेट दिखते हाई कटा 41000 हज़ार का चालान, गाड़ी लेकर निकले लोग रखे ध्यान

देश के अन्य राज्यों की तुलना में देश की राजधानी दिल्ली में ट्रैफिक को लेकर नियम सख्त हैं, इसलिए यहां पर जरा सी चूक भी भारी पड़ सकती है। इसके चलते दुपहिया और चार पहिया चालकों को हजारों रुपये का चालान भरना पड़ता है। दिल्ली यातायात पुलिस का निगरानी तंत्र बेहत पुख्ता है, इसलिए ट्रैफिक के नियम तोड़कर भाग निकलना बेहद मुश्किल है।

मनोज तिवारी ने भरा 20,000 जुर्माना

ऐसी ही एक गलती भारतीय जनता पार्टी के सांसद मनोज तिवारी (BJP MP Manoj Tiwari) ने कर दी, जिसकी वजह से उन्हें 21,000 रुपये का चालान भरना पड़ा, जबकि सांसद की वजह से मोटरसाइकिल के असली मालिक को 20,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ा।

 

मनोज तिवारी की वजह से खुल गई वाहन चालक की पोल

मनोज तिवारी को हेलमेट नहीं पहनने की वजह से चालान हुआ है, लेकिन ज्यादा चालान मोटरसाइकिल में खामी के चलते हुआ। दरअसल, मोटरसाइकिल में हाइ सिक्योरिटी प्लेट नहीं थी और न ही उसका पीयूपी सर्टिफिकेट ही बना था।

कुल मिलाकर कटा 41,000 रुपये का चालान

दरअसल, उत्तर पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद मनोज तिवारी को बुधवार को आयोजित तिरंगा यात्रा रैली में बिना हेलमेट बाइक चलाना भारी पड़ गया। इसके चलते दिल्ली यातायात पुलिस (Delhi Traffic Police) ने मनोज तिवारी और वाहन मालिक का 41 हजार रुपये का चालान काट दिया।

यहां पर बता दें कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर ‘हर घर तिरंगा’ अभियान चलाने की तैयारी है। पूर्व योजना के अनुसार, ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अंतर्गत सभी राज्यों में 13 अगस्त से 15 अगस्त के बीच हर घर पर ‘तिरंगा’ फहराया जाएगा। वहीं, इससे पहले सभी सांसदों ने दिल्ली में बुधवार को तिरंगा बाइक रैली निकाली।

इस दौरान बड़ी संख्या में उपराष्ट्रपति  और केंद्रीय मंत्रियों के साथ कई नेता भी शामिल हुए। भाजपा सांसद मनोज तिवारी भी शामिल हुए और इस रैली में बिना हेलमेट बाइक चलाना भारी पड़ गया। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने मनोज तिवारी और वाहन मालिक का 41 हजार रुपये का चालान काट दिया।

बताया जा रहा है कि इस पूरे चालान की राशि में से भाजपा सांसद मनोज तिवारी को 21,000 और वाहन मालिक 20000 रुपये का भुगतान करेंगे। इतना भारा चालान होने के पीछे हेलमेट न लगाना और हाई सिक्यॉरिटी नंबर प्लेट का नहीं होना था। इसके साथ ही मोटरसाइकिल का प्रदूषण सर्टिफिकेट भी नहीं होना था।

Leave a Reply