दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे के तहत यूपी गेट से डासना तक दूसरे और डासना से मेरठ तक चौथे चरण को परिवहन मंत्रालय ने स्वीकृति दे दी है। स्वीकृति मिलने के बाद  एक्सप्रेसवे में यातायात आवागमन एक अप्रैल से शुरू हो जाएगा। डासना से मेरठ की ओर तैयार 700 मीटर की एलिवेटेड रोड पर लोड टेस्टिंग और अंतिम ट्रायल रन भी पूरा हो गया है।

यह एक्सप्रेसवे पश्चिमी यूपी की लाइफलाइन बताई जारी है। इस नई एक्सप्रेसवे के शुरू होने से दिल्ली से मेरठ की दूरी एक घंटा और गाजियाबाद से मेरठ जाने में केवल 30 मिनट का समय लगेगा। इसके अलावा उत्तराखंड जाने वाले लोगों को भी अब स्थायी रूप से जाम से छुटकारा मिल जाएगा।

इस एक्सप्रेसवे को पूरी तरह से अत्याधुनिक कैमरों व नम्बर प्लेट स्कैनिंग मशीनों से लैस किया गया है। यानी एक्सप्रेसवे पर तेज फर्राटा भरने वालों का स्वतः ही चालान टोल नाके पर कट जाएगा।

हालांकि पहले एक्सप्रेसवे बुधवार यानी 31 मार्च को खोला जाना था लेकिन कुछ तकनीकी अड़चनों के कारण एक्सप्रेसवे खोलने की तिथि बढ़ा दी गई। इस एक्सप्रेस वे के यूपी गेट से डासना तक के दूसरे चरण के खुलने के बावजूद 700 मीटर के हिस्से का काम मई तक पूरा होगा। एबीईएस कॉलेज के पास अलीगढ़ रेलवे लाइन पर आरओबी का काम अभी अधूरा है।

Leave a comment

Cancel reply