Saturday, June 19

दिल्ली में कोरोना से स्वस्थ होने के बाद कई रोगियों को अस्पताल में नही किया जा रहा भर्ती

कई मरीज नही हो पा रहे अस्पतालों में भर्ती

राजधानी में पोस्ट कोविड समस्याओं के इलाज के लिए मरीजों को सरकारी अस्पतालों में दाखिला नहीं मिल रहा है। कोविड विशेष होने का हवाला देकर अस्पताल रोगियों को भर्ती नहीं कर रहे हैं। मजबूरी में लोगों को बड़े निजी अस्पतालों में भर्ती होना पड़ रहा है, जहां इलाज में काफी पैसा खर्च हो रहा है।

तीन बड़े सरकारी अस्पतालों में 65 फीसदी आईसीयू बेड खाली

सरकार के तीन बड़े अस्पताल लोकनायक, जीटीबी और राजीव गांधी अस्पताल में 65 फीसदी आईसीयू बेड खाली हैं। हालांकि, यह तीनों ही अस्पताल ही कोविड विशेष हैं।

सांस लेने मे दिक्कत

दिल्ली में पिछले दो महीने में करीब तीन लाख लोग कोरोना से स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें से कुछ मरीज ऐसे भी हैं, जिन्हें स्वस्थ होने के बाद सांस लेने में परेशानी समेत अन्य कई प्रकार की गंभीर समस्याएं भी हो रही हैं। जब यह मरीज अस्पतालों में जाते हैं तो इन्हें भर्ती नहीं किया जाता।

Leave a Reply