अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव काफी नीचे है आने के बाद अब देशभर में पेट्रोल डीजल पर सरकार के तरफ से रियायत देने की मांग उठ रही है. आपको बताते चलें कि पूरे देश में लगभग ₹100 या इससे ऊपर पेट्रोल के दाम हैं.

इस वक्त अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 90.72 डॉलर प्रति बैरल तक आ चुकी है जबकि वहीं 6 जून को कच्चा तेल $120 प्रति बैरल पर था. इतने कमी के बावजूद भी इसका मुनाफा अब तक भारतीय बाजार में उपभोक्ताओं को नहीं दिया गया है.

कम से कम घटे ₹10 पेट्रोल डीजल के दाम.

दिल्ली के गुड्स ट्रांसपोर्ट ऑर्गेनाइजेशन के प्रेसिडेंट राजेंद्र कपूर ने अपनी बात रखते हुए बताया कि सरकार कच्चे तेलों के गिर रहे रेट का लाभ उपभोक्ताओं को नहीं दे रही हैं और सारा मुनाफा तेल कंपनियां उठा रही हैं.

जब भी बाहर में कच्चे तेल की कीमत बढ़ती है तब देश में उसकी कीमत तुरंत बढ़ा दी जाती हैं लेकिन कम होने पर कोई संज्ञान नहीं लिया जा रहा है.

पहले से ही टूरिज्म इंडस्ट्री मार झेल रही है और आर्थिक तंगी से जूझ रही है अब पहले की तरह बुकिंग नहीं हो रही है साथ ही साथ गाड़ियों की किस्ते और परिवार का खर्च निकालना भी मुश्किल हो गया है बढ़ती महंगाई के वजह से मजदूरों जैसे ड्राइवर इत्यादि भी अब महंगे हो गए हैं ऐसे में अगर सरकार कदम नहीं उठाती है तो सड़क पर आने के अलावा और कोई चारा नहीं होगा.

Leave a comment

Cancel reply